Tuesday, 18 September 2012

Motorbike dad - Papà con moto - मोटरसाइकल वाला पिता

Guy with motorbike and a kid, Beja Parà, Brazil - S. Deepak, 2012
Guy with motorbike and a kid, Beja Parà, Brazil - S. Deepak, 2012
Guy with motorbike and a kid, Beja Parà, Brazil - S. Deepak, 2012

Beja, Parà, Brazil: The young man with the child came on his motorbike, they both took bath in the river, and as the sun started to go down, the two got on the motorbike and went back to home.


बेजा, परा, ब्राज़ीलः वह नवयुवक अपने छोटे बच्चे का साथ मोटरसाइकल पर आया, दोनो ने नदी में नहाया, फ़िर जब सूरज डूबने लगा तो बाप बेटा मोटरसाइकल पर बैठ कर घर की ओर चल पड़े.

Beja, Parà, Brasile: Il giovane con il bimbo aveva una moto, entrambi avevano fatto bagno nel fiume e mentre il sole tramontavano, loro si sono saliti sulla moto a partiti per la casa.

***

14 comments:

  1. लगता है एक कहानी के लिए यह खूबसूरत चित्र कैद कर लिए गए। दिल को छू गए।बधाई.

    ReplyDelete
    Replies
    1. जिस दिन यह तस्वीरें खींचीं थी तो मन बहुत खिन्न था, सारा दिन औरतों की कहानियाँ सुनी थीं, हिँसा, मारपीट की कहानियाँ, शराबी नशेड़ी पतियों की कहानियाँ. जब उस युवक को बच्चे के साथ खेलते देखा था तो बहुत अच्छा लगा था, कि चलो दुनिया में सभी पुरुष बुरे नहीं होते, कुछ को प्रेम करना भी आता है!
      धन्यवाद अफलू जी :)

      Delete
  2. सुन्दर फोटो हैं और पिता पुत्र का साथ नहाना खेलना.... मनमोहक लगा.
    पिछले साल महाराष्ट्र में भंडारधारा गई थी. नाव पर बैठे तो नाविक से बातें हुईं. उसने कहा कि हर पिता अपने बेटे को तैरना सिखाता है. मैंने पूछा कि बेटी को? तो उसने थोड़े आश्चर्य से मुझे देखा और बोला न बेटियों को नहीं सिखाते. उन्हें माँ चूल्हा चौका सिखाती हैं. सामने अथाह जलराशि और बेटियाँ ... कहीं भी रहें उन्हें केवल चूल्हे चौके का संग!
    आशा है कि यदि उस पिता की बेटी होती तो वह उसे भी लेकर नदी पर आता.
    घुघूतीबासूती

    ReplyDelete
    Replies
    1. इस तस्वीर में युवक के साथ पुत्र था या पुत्री यह तो मुझे नहीं मालूम, पर मन में इस तरह की बात में अपने आप ही सोच आ जाती है कि बाप बेटा ही होंगे!

      बेटों को क्या करना चाहिये, बेटियों का क्या, इस सोच को बदलने के लिए कितने युग लगेंगे, कौन जाने?

      Delete
  3. A heartwarming story and heartwarming pictures. :) Beautiful!

    ReplyDelete
    Replies
    1. Thanks D.

      Yes, it was heart warming to see them play together! He saw me clicking pictures, smiled but didn't say anything! I wanted to say hello to the baby (as people of my age have a natural urge to do it) but I also controlled myself and didn't break their togetherness ..

      Delete
  4. Lovely captures!!

    http://rajniranjandas.blogspot.in

    ReplyDelete
  5. beautiful photo is it boy or girl

    ReplyDelete
    Replies
    1. Thanks SM. I didn't ask them if the baby was a boy or a girl :)) (I felt that I was already intruding in their privacy!)

      Delete
  6. पहली तस्वीर में पहिया न कटता तो मोटर साइकल के विज्ञापन के लिए फिट बैठती :)

    कहानियाँ समग्रता को नहीं समेट सकती जी. पुरूष बुरे नहीं होते... :)

    ReplyDelete
    Replies
    1. सँजय मुझे मोटरसाइकल बहुत अच्छी लगती हैं, केवल दूर से देखना अच्छा लगता है, चलाया नहीं कभी! :)

      हाँ यह सच है कि सभी पुरुष बुरे नहीं होते, अधिकाँश अच्छे ही होते हैं पर कभी कभी लगता है कि जैसे हम हों, सबको वैसा ही समझते हैं और ऐसा होता नहीं. :))

      Delete

Daily 3 new images from around the world with a brief reflection in English, Hindi and Italian - Thanks in advance for your comments - Grazie in anticipo per i vostri commenti - आप की टिप्पणियों के लिए धन्यवाद

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...

Followers