Wednesday, 26 December 2012

Inspiration - Ispirazione - प्रेरणा

description
description
description

What is the difference between inspiration and copying? It is not always easy to answer this question. Today's images have vehicles' "number plates" from Portrait museum in Washington DC (USA) and the "name plates" of Mumbai's railway stations from "Culture street" of "Kingdom f Magic" in Gurgaon (India). The basic idea of the two is similar. What do think, it is inspiration or copying?

प्रेरणा लेने और नकल करने में क्या अन्तर है? इसका उत्तर हमेशा आसान नहीं होता. आज की तस्वीरों में वाशिन्गटन  (अमरीका) के पोर्ट्रेट संग्राहलय से वाहनों के नम्बर प्लेटस की कला है और गुड़गाँव (भारत) की "मेजिक किन्गडम" की "सभ्यता गली" से मुम्बई के रेलवे स्टेशनों के नामों की प्लेटों की कला हैं. दोनो का मूल विचार एक जैसा है, तो इसे आप प्रेरणा कहेंगे या नकल?

Qual'è la differenza tra ispirazione e copiare? Non è sempre facile rispondere a questa domanda. Le immagini di oggi hanno le targhe dei veicoli dal museo dei ritratti di Washington DC (Stati Uniti) e i nomi delle stazioni ferroviarie di Mumbai dalla "stradina della cultura" dal "Regno della Magia" di Gurgaon (India). L'idea di base di entrambi è simile. Voi la chiamerete ispirazione o copia?

***

14 comments:

  1. कठीन सवाल है.
    नकल उसे मानना चाहिए जो असल की गुडविल का उपयोग कर लाभ उठाए. यह भावना न हो तो प्रेरणा मानिये. शायद :)

    ReplyDelete
    Replies

    1. लाभ भी तो कई तरह के होते हैं, केवल पैसे के नहीं. प्रसिद्धी भी एक तरह का लाभ है. तो भावना को कैसे नापें?

      धन्यवाद सँजय :)

      Delete
  2. नकल सेम टू सेम होती है और प्रेरणा मतलब नकल में खुद का भी क्रिएशन एड होता है।

    ReplyDelete
    Replies
    1. धन्यवाद कुलवँत. अगर हूबहू वही चीज़ बनायी या लिखी जाये तो यह निर्णय लेना कठिन नहीं. लेकिन अगर कुछ बातें ले कर उनमें अपना कुछ जोड़ा जाये तो प्रश्न उठ सकता है कि कितना अपना जोड़ने से उसे प्रेरणा कह सकते हैं?

      Delete
    2. नकल प्रेरणा तभी बन सकती है जब कुछ ऐसा अनूठा निर्माण हो कि देखने वाला वाह! कह उठे और बनाने वाले को बताना पड़़े कि दरअसल मुझे इसकी प्रेरणा यहाँ से मिली थी। बिना उसके बताये देखने वाला न जान पाये कि यह फलां को देखकर बनाई गई है।

      Delete
    3. प्रेरणा ऐसी हो कि कोई जान ही न पाये .. बात दिलचस्प तो है, लेकिन व्यवहारिक भी है क्या? :)

      धन्यवाद देवेन्द्र

      Delete
  3. शानदार ,
    जारी रहिये,
    बधाई !!!

    ReplyDelete
    Replies
    1. धन्यवाद आर्यावर्त

      Delete
  4. Replies
    1. सोनिया ज़ेन (zen) वाले उत्तर यहाँ नहीं चलेंगे :)

      Delete
  5. That's a difficult question to answer as it is very subjective — one person's inspiration may be another person's copying.

    ReplyDelete
    Replies
    1. I agree completely Sudha. Though some people crib about their copyrights but in reality it is not so easy to separate the two! :) Personally I feel flattered if I can "inspire" others.

      Delete

Daily 3 new images from around the world with a brief reflection in English, Hindi and Italian - Thanks in advance for your comments - Grazie in anticipo per i vostri commenti - आप की टिप्पणियों के लिए धन्यवाद

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...

Followers