Saturday, 13 August 2011

Lotus - Loto - कमल

Lotus dancers, Par Tot parade Bologna, Italy - S. Deepak, 2011
Lotus dancers, Par Tot parade Bologna, Italy - S. Deepak, 2011
Lotus dancers, Par Tot parade Bologna, Italy - S. Deepak, 2011
Bologna, Italy: At the Par Tot summer festival parade, this group of dancers with wide skirts, looked as pretty as the lotus flowers on their heads.

बोलोनिया, इटलीः ग्रीष्म ऋतु समारोह में फ़ूली हुई स्कर्ट में सिर पर कमल के फ़ूल लगाये यह नर्तकियाँ खुद भी किसी कमले के फ़ूल से कम सुन्दर नहीं लग रही थीं.

Bologna, Italia: Alla parata Par Tot, queste ragazze con le gonne larghe, sembravano belle come i fiori di loto che avevano sulle loro teste.

***

10 comments:

  1. good photographs and i like the multi-language description:)

    ReplyDelete
  2. Did you see Lotus is pretty or girls are pretty? HAHA :)))

    Nice pix.

    ReplyDelete
  3. A, lotus looks pretty because they sit on the heads of pretty girls and make them look prettier! :)

    ReplyDelete
  4. ब्लॉगिंग के माध्यम से हमारी कोशिश यही होनी चाहिए कि मनोरंजन के साथ साथ हक़ीक़त आम लोगों के सामने भी आती रहे ताकि हरेक समुदाय के अच्छे लोग एक साथ और एक राय हो जाएं उन बातों पर जो सभी के दरम्यान साझा हैं।
    इसी के बल पर हम एक बेहतर समाज बना सकते हैं और इसके लिए हमें किसी से कोई भी युद्ध नहीं करना है। आज भारत हो या विश्व, उसकी बेहतरी किसी युद्ध में नहीं है बल्कि बौद्धिक रूप से जागरूक होने में है।
    हमारी शांति, हमारा विकास और हमारी सुरक्षा आपस में एक दूसरे पर शक करने में नहीं है बल्कि एक दूसरे पर विश्वास करने में है।
    राखी का त्यौहार भाई के प्रति बहन के इसी विश्वास को दर्शाता है।
    भाई को भी अपनी बहन पर विश्वास होता है कि वह भी अपने भाई के विश्वास को भंग करने वाला कोई काम नहीं करेगी।
    यह विश्वास ही हमारी पूंजी है।
    यही विश्वास इंसान को इंसान से और इंसान को ख़ुदा से, ईश्वर से जोड़ता है।
    जो तोड़ता है वह शैतान है। यही उसकी पहचान है। त्यौहारों के रूप को विकृत करना भी इसी का काम है। शैतान दिमाग़ लोग त्यौहारों को आडंबर में इसीलिए बदल देते हैं ताकि सभी लोग आपस में ढंग से जुड़ न पाएं क्योंकि जिस दिन ऐसा हो जाएगा, उसी दिन ज़मीन से शैतानियत का राज ख़त्म हो जाएगा।
    इसी शैतान से बहनों को ख़तरा होता है और ये राक्षस और शैतान अपने विचार और कर्म से होते हैं लेकिन शक्ल-सूरत से इंसान ही होते हैं।
    राखी का त्यौहार हमें याद दिलाता है कि हमारे दरम्यान ऐसे शैतान भी मौजूद हैं जिनसे हमारी बहनों की मर्यादा को ख़तरा है।
    बहनों के लिए एक सुरक्षित समाज का निर्माण ही हम सब भाईयों की असल ज़िम्मेदारी है, हम सभी भाईयों की, हम चाहे किसी भी वर्ग से क्यों न हों ?
    हुमायूं और रानी कर्मावती का क़िस्सा हमें यही याद दिलाता है।

    रक्षाबंधन के पर्व पर बधाई और हार्दिक शुभकामनाएं...

    देखिये
    हुमायूं और रानी कर्मावती का क़िस्सा और राखी का मर्म

    ReplyDelete
  5. wow! thanks to you i get to know stories from all over the world.... :D loved the pictures...

    ReplyDelete
  6. wow... nice clicks... n thank u so much for such info...

    ReplyDelete
  7. Very nice captures... Interesting costumes...

    ReplyDelete

Daily 3 new images from around the world with a brief reflection in English, Hindi and Italian - Thanks in advance for your comments - Grazie in anticipo per i vostri commenti - आप की टिप्पणियों के लिए धन्यवाद

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...

Followers